Sunday, February 5, 2023
HomeTechnologyMeitY releases draft amendments for regulation of online gaming; Here's everything you...

MeitY releases draft amendments for regulation of online gaming; Here’s everything you need to know – Explainer


नई दिल्ली: इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) ने भारत में ऑनलाइन गेमिंग को विनियमित करने के लिए आईटी (मध्यस्थ दिशानिर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियम 2021 में संशोधन का प्रस्ताव दिया है। इसने सार्वजनिक चर्चा के लिए मसौदा संशोधन जारी किया है और जनता से 17 जनवरी, 2023 तक प्रतिक्रिया मांगी है।

यह भी पढ़ें | वनप्लस 11 की तस्वीरें ऑनलाइन लीक; यहां हम आने वाले प्रीमियम स्मार्टफोन के बारे में अब तक क्या जानते हैं – तस्वीरों में

प्रस्तावित संशोधनों के अनुसार, MeitY का उद्देश्य स्व-विनियमन और अनिवार्य खिलाड़ी सत्यापन द्वारा उचित परिश्रम का पालन करने के लिए ऑनलाइन गेमिंग मध्यस्थ (प्लेटफ़ॉर्म) बनाना है।

कुछ दिन पहले, केंद्र सरकार ने MeitY को ऑनलाइन गेमिंग विनियमन के लिए नोडल मंत्रालय बनाया था। सरकार का लक्ष्य ऑनलाइन गेमिंग प्लेटफॉर्म को आईटी नियमों, 2021 का पालन करने के लिए बाध्य करना है और प्लेटफॉर्म पर खेलने से पहले उपयोगकर्ताओं/खिलाड़ियों को सत्यापित करना है।

यह भी पढ़ें | कंपनी के सह-संस्थापक और सीटीओ गुंजन पाटीदार के इस्तीफे के बाद मंगलवार को सुबह के कारोबार में ज़ोमैटो के शेयरों में 5% की गिरावट आई

मोरोएवर, अतिरिक्त उचित परिश्रम का पालन करने के लिए स्व-नियामक निकाय से पंजीकरण की पुष्टि करने के लिए सभी ऑनलाइन गेम के लिए एक पंजीकरण चिह्न होगा। यह ऑनलाइन गेमिंग मध्यस्थ को अपने उपयोगकर्ताओं को निकासी या जमा की वापसी, जीत के निर्धारण और वितरण के तरीके, शुल्क और देय अन्य शुल्क और उपयोगकर्ता खाते के पंजीकरण के लिए केवाईसी प्रक्रिया से संबंधित अपनी नीति के बारे में सूचित करने के लिए बाध्य करेगा।

प्रस्तावित संशोधनों के प्रभाव में आने के बाद ऑनलाइन गेम पर सट्टेबाजी को भी प्रतिबंधित किया जा सकता है।

स्व-नियामक निकाय मंत्रालय के साथ पंजीकृत होंगे और ऐसे ऑनलाइन गेमिंग मध्यस्थों के ऑनलाइन गेम पंजीकृत कर सकते हैं जो इसके सदस्य हैं और जो कुछ मानदंडों को पूरा करते हैं। ऐसे निकाय शिकायत निवारण तंत्र के माध्यम से भी शिकायतों का समाधान करेंगे।

ऑनलाइन गेमिंग समस्या

ऑनलाइन गेमिंग अब तक भारत में अनियमित रहा है और विवाद का विषय रहा है। पहले भी कई मामले देखे गए हैं जिनमें यूजर्स को ठगा जा रहा था या लाखों रुपये खर्च करने के लिए मजबूर किया जा रहा था, खासकर टीनएजर्स को।





Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments