Friday, December 2, 2022
HomeWorld Newsअमेरिका मिड टर्म इलेक्शन: हाउस ऑफ रिप्रेजेन्टेटिव में रिपब्लिकन पार्टी का कंट्रोल,...

अमेरिका मिड टर्म इलेक्शन: हाउस ऑफ रिप्रेजेन्टेटिव में रिपब्लिकन पार्टी का कंट्रोल, अब बाइडेन के एजेंडों पर रोक लगा सकेंगे ट्रम्प


वॉशिंगटन6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अमेरिकी मिड टर्म इलेक्शन में ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी ने हाउस ऑफ रिप्रेजेन्टेटिव (लोअर हाउस) में 218 सीटें जीत ली हैं। अब अमेरिकी संसद के लोअर हाउस में रिपब्लिकन्स का कंट्रोल होगा। इसी के साथ अगले दो साल तक यानी 2024 तक अमेरिका में विभाजित सरकार होगी। ऐसी इसलिए क्योंकि सीनेट (संसद के अपर हाउस) में डेमोक्रेट्स का कंट्रोल है।

अब कमजोर पड़ जाएंगे बाइडेन

  • बाइडेन के लिए हाउस ऑफ रिप्रेजेन्टेटिव में जीत भी अहम थी। यहां बहुमत खो देने के बाद अब वो काफी कमजोर हो जाएंगे। उन्हें हर बड़ा फैसला लेने के लिए संसद में विपक्ष यानी डोनाल्ड ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी के भरोसे रहना होगा।
  • ऐसा इसलिए क्योंकि हाउस ऑफ रिप्रेजेन्टेटिव में जिस भी पार्टी की जीत होती है उस पार्टी का संसद में दबदबा होता है। वही पार्टी कानून बनाने में ज्यादा अहम रोल अदा करती है। यहां ट्रम्प की पार्टी की जीत हुई है। इसका मतलब ये है कि उनकी पार्टी तय करेगी कि किन कानूनों पर वोटिंग होगी।
  • इसके अलावा रिपब्लिकन्स बाइडेन के एजेंडों पर रोक लगा सकेंगे। साथ ही उनके पास इन्वेस्टिगेटरी कमेटी का कंट्रोल होगा। इससे वो 6 जनवरी 2021 को हुई US कैपिटल हिंसा मामले में चल रही जांच खत्म कर सकेंगे।
राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि वो ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी के साथ मिलकर काम करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा- मिड टर्म इलेक्शन ने अमेरिकी लोकतंत्र की ताकत दिखाई है।

राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि वो ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी के साथ मिलकर काम करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा- मिड टर्म इलेक्शन ने अमेरिकी लोकतंत्र की ताकत दिखाई है।

संसद को दोनों सदनों के काम पर एक नजर
भारत की तरह अमेरिका में भी संसद ही कानून बनाती है। हाउस ऑफ रिप्रेजेन्टेटिव तय करता है कि किन कानूनों पर वोटिंग होगी। इसके बाद सीनेट उन कानूनों को अप्रूव या ब्लॉक करता है। इसके साथ ही सीनेट राष्ट्रपति ने जिन लोगों को नियुक्त किया है उन्हें कन्फर्म करता है। यहां तक की जरूरत पड़ने पर राष्ट्रपति के खिलाफ जांच भी सीनेट ही करता है।

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, हाउस ऑफ रिप्रेजेन्टेटिव (लोअर हाउस) में रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक पार्टी के बीच कांटे की टक्कर थी। बाइडेन की डेमोक्रेटिक पार्टी यहां 211 सीटें जीतीं। मिड टर्म इलेक्शन के नतीजे 2024 में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवारी का आधार तय करते हैं। आसान शब्दों में समझें तो लोगों के वोटों के आधार पर राष्ट्रपति उम्मीदवार का आंकलन किया जाता है और राष्ट्रपति चुना जाता है।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments